अच्छा तो ये थी पहली FIR

क्या थी पहली एफआईआर?
1858 में दिल्ली पर पूरी तरह कब्जे के बाद अंग्रेजों को कानून बनाने में तकरीबन तीन साल लग गए।
1861 में यह कानून बना और नाम दिया गया *ताज-ए-रात-ए हिंद* यानी *इंडियन पीनल कोड(आईपीसी)*
अंग्रेजों ने आईपीसी बनाने के साथ ही दिल्ली में पांच थाने बनाये।
कोतवाली,सदर बाजार,सब्जीमंडी,महरौल और मुंडका
इस सिस्टम के तहत पहली एफआईआर 18 अक्टूबर 1861 में सब्जीमंडी थाने में दर्ज हुई। जो कि कटरा शीशमहल निवासी मयुद्दीन पुत्र मुहम्मद यार खान ने दर्ज कराई।
जिसके मुताबिक 17 अक्टूबर को इनके घर से तीन डेगचे,तीन डेगची,एक कटोरा,एक हुक्का, और औरतों के 45 आने कीमत के कपडे चोरी हो गये थे।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

कुमाऊँ आयुक्त राजीव रौतेला ने कहा कि गर्मी और पर्यटक सीजन में जो जल आपूर्ति की जा रही है वो लचर एवं अनियोजित है।

🔊 Listen to this कुमाऊॅ मण्डल में पेयजल की दिक्कत को देखते हुए आयुक्त कुमाऊॅ …

Ksquare News