चुनाव के लिए महिलाओ का अपमान कब तक ?

  1. अभी कुछ दिन हुए है जब हम सबने 8 मार्च को अंतराष्ट्रीय दिवस मनाया । बड़ी बड़ी बाते कही गयी।महिलाओं की उप्लब्धयियों की चर्चा बैनर, न्यूज़ पेपर और न्यूज चैनल में थी।
    सरकारें चाहे जिसकी भी रही जो रही हो,उन सब ने बेटियों और महिलाओं के संम्मान में विभाग बनाए,बिज्ञापन में करोड़ों सरकारी रुपये खर्च कर हैं। लेकिन परिणाम वही ढाक के तीन पात,अगर कुछ सरकार ने किया होता तो फिर इस तरह के पोस्टर नही आते ।
    चुनावों की घोषणा होते ही लगता है राजनीतिक दल, महिला दिवस और बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ योजना को पहले ही दिन भूल गए।और राजनीतिक लाभ लेने के लिए कहें या फिर दुसरीं पार्टी को नीचा दिखाने के लिए महिलाओ का अपमान करने लगे हैं।
Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

मोतीनगर में रोड शो के दौरान केजरीवाल को फिर पड़ा थप्पड़

🔊 Listen to this नई दिल्ली,04 मई । आप संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद …

Ksquare News